top of page

 Daily Meditation
  Strengthening My Recovery 

अप्रैल १५      

चौथा वादा

"अंतरंगता  (intimacy)  बाँटने की हमारी क्षमता हमारे अंदर विकसित होगी।" बीआरबी पृष्ट ५९१

हमारे अकार्यशील अस्वस्थ परिवारों का एक और शिकार हमारी अंतरंगता सांझा करने की क्षमता थी। हमारे अक्सर खतरनाक परिवारों में, अंतरंगता (intimacy) ने कमजोरी  (vulnerability) को जन्म दिया था, जो दोबारा दोबारा आहत होने का एक खुला निमंत्रण बन गया। हमने अंतरंगता की अपनी स्वाभाविक आवश्यकता को बंद करके अपनी रक्षा करना सीखा। हमारे झूठे स्व ने हमें अनगिनत अपूर्ण ज़रूरतो (unmet needs) के कष्टदायक दर्द से बचाने के लिए कार्यभार संभाल लिया।

जैसे-जैसे हम रिकवरी की प्रक्रिया में संलग्न (engage) होते हैं, हम अन्य एसीए के साथ सहज महसूस करने लगते हैं, बैठकों में अपनी आवश्यकताओं को व्यक्त करना सीखते हैं। हमें अपने सबसे क़ीमती दुखों को किसके साथ सांझा करना है, यह तय करने में हमें समझदार होने की जरूरत हो सकती है, लेकिन अगर हमें अंतरंग रूप से सांझा करने की अपनी क्षमता को पुनः प्राप्त करना है तो हमें उन्हें सांझा करना सीखना होगा।

 

स्वास्थ्य प्राप्ति की प्रक्रिया के लिए हमें अपने स्वयं के प्यारे माता-पिता बनने की आवश्यकता होती है, जो हमारे सबसे उत्साही रक्षक, हमारे आलोचक माता-पिता को कार्यमुक्त करतें हैं। तभी हमारे अंदर का बच्चा (inner child) अपने अंदर के सभी दुखों को महसूस करना और व्यक्त करना शुरू करेगा।

 

जैसे-जैसे हम अपने आलोचक माता-पिता की असहज अनुपस्थिति के साथ सहज होते जाते हैं, हमें विश्वास होता है कि हमारे प्यारे माता-पिता हमें यह जानने में मार्गदर्शन करेंगे कि कब और कहाँ अंतरंग रूप से सांझा करना है। हमारी आंतरिक अंतरंगता बाहरी अंतरंगता में तब्दील हो जाती है, और हम एक बार फिर से पूर्ण हो जाते हैं।

 

इस दिन मैं अपने अंदर के बच्चें को सुरक्षित महसूस कराने में मदद करूंगी ताकि मेरी अंतरंगता साँझा करने की स्वतंत्रता बढ़ सके। मैं दूसरों के साथ अंतरंग रूप से सांझा करने का अभ्यास करूंगी, जिन पर मैंने भरोसा करना सीखा है।

(यह एसीए सम्मेलन स्वीकृत अनुवाद नहीं है और व्यक्तिगत अपूर्ण प्रयास है। आपको जो चाहिए वह अपना लें और बाकी को छोड़ दें)

April 15

Promise Four

"Our ability to share intimacy will grow inside us." BRB p. 591

One casualty of our dysfunctional families was our ability to share intimacy. In our oftentimes dangerous families, intimacy led to vulnerability, which became an open invitation to be hurt and hurt again. We learned to protect ourselves by shutting down our natural need for intimacy. Our false self took charge to protect us from the harrowing pain of a multitude of unmet needs.

 

As we engage in the process of recovery, we begin to feel comfortable with other ACAs, learning to express our needs at meetings. We may need to be discerning in deciding with whom to share our most treasured hurts, but share them we must if we are to regain our ability to share intimately.

 

The process of recovery requires us to become our own loving parent, relieving from duty our most ardent defender, our critical inner parent. Only then will our Inner Child begin to feel and express all the hurt inside.

 

As we grow comfortable with the uncomfortable absence of our critical inner parent, we build trust that our loving parent will guide us in knowing when and where to share intimately. Our internal intimacy translates into outward intimacy, and we are made whole once again.

 

On this day I will help my Inner Child feel safe so that my freedom to share intimacy can grow. I will practice sharing intimately with others I have learned to trust.

 

Copyright © 2013 by
Adult Children of Alcoholics®
World Service Organization, Inc.

Page Number - 110

bottom of page